Our Latest Posts

HOW TO CURE NIGHTFALL

HOW TO CURE NIGHTFALL



In this Video, Prashant Sharma will speak on what is nightfall and how can be treated. He will also explain how many times nightfall in a month is normal? how to stop nightfall in sleeping in the night? what is the reason for nightfall, nightfall is good or bad for health, the effect of nightfall on the human body, etc? इस वीडियो में प्रशांत शर्मा नाइटफॉल क्या है और कैसे इलाज किया जा सकता है पर बोलेंगे। वह यह भी बताएँगे कि एक महीने में कितनी बार स्वपनदोष सामान्य है?, नींद में रात को नाइटफॉल कैसे रोकना है?, नाइटफॉल का कारण क्या है, नाइटफॉल स्वास्थ्य के लिए अच्छा या बुरा है, मानव शरीर पर नाइटफॉल का प्रभाव आदि।

स्वप्नदोष क्यों होता है और इसके मुख्य कारण क्या है ?

अपने नाम के विपरीत स्वप्नदोष (Nocturnal emission) कोई दोष न होकर एक स्वाभाविक दैहिक क्रिया है जिसके अंतर्गत एक पुरुष को नींद के दौरान वीर्यपात (स्खलन) हो जाता है।यह कहा जा सकता है कि कोई रोग नहीं है किन्तु यदि यह इससे ज्यादा बार होता है तो वीर्य की या शुक्र की हानि होती है और व्यक्ति को शारीरिक कमजोरी का अहसास होता है। क्योंकि यह शुक्र भी रक्त कणों से पैदा होता है। अतः अत्यधिक शुक्र क्षय व्यक्ति को कमजोर कर देता हैं।स्वप्नदोष, किशोरावस्था और शुरुआती वयस्क वर्षों में के दौरान होने वाली एक सामान्य घटना है, लेकिन यह उत्सर्जन यौवन के बाद किसी भी समय हो सकता है। आवश्यक नहीं है कि प्रत्येक पुरुष स्वप्नदोष को अनुभव करे, जहां अधिकांश पुरुष इसे अनुभव करते हैं वहीं कुछ पूर्ण रूप से स्वस्थ और सामान्य पुरुष भी इसका अनुभव नहीं करते। स्वप्नदोष के दौरान पुरुषों को कामोद्दीपक सपने आ सकते हैं या यह स्तंभन के बिना भी हो सकता है।

1. स्वप्नदोष या नाईट फॉल क्यों होता है ? 

जब पुरुष अपनी यौवनावस्था (Puberty) से गुजरते हैं, तो उनके शरीर में टेस्टोस्टेरॉन नाम का मेल हॉर्मोन का उत्पादन शुरू हो जाता है। जब आपका शरीर टेस्टोस्टेरॉन का उत्पादन शुरू करने लगता है, तो वो स्पर्म को रिलीज कर सकता है। स्पर्म रिलीज करने पर ही कोई पुरुष किसी महिला को गर्भवती कर सकता है। यौवनावस्था के दौरान टेस्टोस्टेरॉन हॉर्मोन की वजह से ही आपका पेनिस इरेक्ट होता है। जब शरीर में टेस्टोस्टेरॉन की मात्रा ज्यादा हो जाती है, तो आपको सोते हुए भी इरेक्शन हो जाता है। जिस वजह से आपके शरीर में बनने वाला स्पर्म शरीर से बाहर निकलता है। जिसका एकमात्र माध्यम स्वप्नदोष या वेट ड्रीम होता है। और जब आप सेक्स सम्बंधित चीज़े छोड़ देते है तो शरीर में वीर्य की मात्रा बढ़ जाती है जिससे वीर्य अनैच्छिक स्खलन से बहार आ जाता है?

दूसरी तरफ, आप इसे इस तरह से भी समझ सकते हैं कि, सोते हुए आपके जननांग में ब्लड फ्लो बढ़ जाता है, जिससे वह हाइपरसेंसिटिव होते हैं। इसलिए, अगर आप सेक्शुअल ड्रीम देख रहे हैं या बेड या कपड़ों की वजह से इरेक्शन होता है, तो पेनिस से तरह पदार्थ निकलने लगता है। ऐसा महिलाओं के साथ भी हो सकता है, जिसे स्वप्नदोष कहते हैं।

2. क्या ज़रूरत से ज्यादा नाईट फॉल होने से आपको कमज़ोरी हो सकती है, डिप्रेशन के शिकार हो सकते है, चिड़चिड़ापन भी हो सकता है ?

सेक्स से जुड़ी कुछ छोटी-छोटी बातें भी कई बार लोगों को बहुत परेशान कर सकती हैं। साथ ही हमारे समाज में सेक्स और सेक्स से जुड़ी बातों को लेकर बहुत-सी ग़लत धारणाएं हैं। इसकी वजह कई बार सही जानकारी की कमी ही होती है और लोग झिझक के मारे अपनी समस्याओं के बारे में किसी सी बात नहीं करते और परेशान-उदास रहते हैं। नाइट-फॉल भी ऐसी ही एक स्थिति है। नाइट-फॉल या स्वप्नदोष एक प्राकृतिक प्रक्रिया है। यह उस समय होता है जब आपके शरीर को भीतर से अधिक मात्रा में बने हुए वीर्य को बाहर निकालना होता है। अगर आप अक्सर हस्तमैथुन या सेक्स करते हैं तो स्वप्नदोष होना लाजिमी है। हमारे देश में हस्तमैथुन करना भी पाप माना जाता है और लोगों की यह गलत अवधारणा है कि स्वप्नदोष से हमारे शरीर का वजन कम हो जाता है और कमजोरी हो जाती है। यहां तक की कुछ लोगो का मानना है की इससे आंखों की रोशनी भी कम हो जाती है। और डिप्रेशन के शिकार हो सकते है, चिड़चिड़ापन भी हो सकता है.


5.नाईटफॉल को कैसे रोक सकते है? 

  1. स्वप्नदोष के होने का एक सबसे बड़ा कारण हम अपने खुद को उत्तेजित करते हैं। अश्लील कहानिया या वीडियो देखने से मन में कामुकता आती है। इसलिए अश्लील वीडियो को देखना बहुत कम करें। अगर आप रात के समय देख रहे हैं तो हस्तमैथुन कर लें।
  2. रोजाना एक्सरसाइज करने से भी शारीरिक ऊर्जा का सही इस्तेमाल होता है और आप स्वप्नदोष से बच सकते हैं। योग या एक्सरसाइज से फिस्कल एनर्जी का इस्तेमाल होता है जिससे नाईट फॉल होने की संभावना बहुत कम हो जाती है।
  3. जो लोग पेट के बल सोते हैं उनको स्वप्नदोष होने की संभावना ज्यादा होती है। पेट के बल सोने से आपका पार्ट दब जाता है। इसलिए अपने सोने की स्थिति में बदलाव लाएं।
  4. रत को सोते समय अश्लील वीडियो ना देखकर कुछ पॉजिटिव किताबें या गाने सुने। दिमाग को खाली नहीं रहने दें जिससे आपके दिमाग में अश्लील बातें आने लगे।
  5. रात को सोने से पहले दूध नहीं पियें इससे शरीर को गर्मी और ऊर्जा मिलती है जिससे स्वप्नदोष होने की संभावना ज्यादा होती है।
  6. रात को सोने से पहले अपने हाथ पैरों को ठन्डे पानी से धो लें।
  7. रात का भोजन सोने से २ घंटे पहले लें और हल्का खाना खाएं। भोजन के बाद रात को पेशाब जरूर करें।
  8. रात को हल्के और ढीले कपड़े पहनकर सोएँ।
  9. सप्ताह में एक या दो बार हस्तमैथुन करने से भी आप स्वप्नदोष से बच सकते हैं।
  10. स्वप्नदोष से बचने के उपाय के लिए बेस्ट तरीका है की आप अपने दिमाग को शांत और साफ़ रखें कोई अच्छी वीडियो देखें।

स्वप्नदोष का घरेलू इलाज और आयुर्वेदिक नुस्खे

  1. रोजाना आंवले का मुरब्बा खाएं और उसके उप्पर से गाजर का रस पीएं।
  2. तुलसी की जड़ के टुकड़े को पीसकर पानी के साथ पीये इससे लाभ होगा। अगर जड़ नहीं मिले तो बीज 2 चम्मच शाम के टाइम लें।
  3. काली तुलसी के पत्ते 10-12 रात में जल के साथ लें।
  4. लहसुन की दो कली कुचल कर निगल जाएं, थोड़ी देर बाद गाजर का रस पीएं।
  5. मुलेठी का चूर्ण आधा चम्मच और आक की छाल का चूर्ण एक चमच दूध के साथ लें।
  6. रात को एक लीटर पानी में त्रिफला चूर्ण भिगो दें। सुबह मथकर महीन कपड़े से छानकर पीनसे से भी लाभ होता है।
  7. अदरक रस 2 चम्मच, प्याज रस 3 चम्मच, शहद 2 चम्मच, गाय के दूध से बना घी 2 चम्मच सबको मिलाकर सेवन करने से स्वपनदोष तो ठीक होगा ही साथ मर्दाना ताक़त भी बढ़ती है।
  8. रोजाना दो केले खाएं और गुनगुना दूध पियें।
  9. अनार के छिलके को पीसकर चूर्ण बनाये और सुबह-शाम पांच-पांच ग्राम पानी के साथ सेवन करें।
  10. मिश्री और सूखा धनिया मिलाकर अच्छे से पीसे और पाउडर बनायें। स्वप्नदोष के लिए यह एक देसी इलाज है आपको रोजाना सादे पानी के साथ आध चम्मच इसे लेना है।


नाईट फॉल रोकने के लिए योग

स्वप्नदोष के इलाज के लिए बाबा रामदेव के नुस्खे और योग बहुत ही कारगर हैं। योग जिस प्रकार मानसिक और शारीरिक रोगों के उपचार में फायदा देता है उसी तरह यह स्वप्नदोष के इलाज के लिए बहुत ही लाभदायक होता है। नीचे दिए गए योग मुद्राएं करके आप नाईट फॉल से बच सकते हैं।


 1. विज्रोली क्रियाविधि: पेशाब करते समय कुछ सेकेंड के लिए पेशाब रोकें और फिर करें। पेशाब करते समय इस क्रिया को 2-3 बार करने से लिंग की नसें मजबूत होती है और स्वप्नदोष खत्म हो जाता है।

 2. अश्विनी मुद्रा: दोनों घुटनों पर शौच करने की स्थिति में बैठ जाएं और अपने गुदा द्वार को अंदर खींचकर कुछ सेकेंड बाद छोड़ दें। इस क्रिया को 30 से 40 बार करें और इस आसन को दिन में 2-3 बार करें। स्वप्नदोष के उपाय के साथ-साथ इस आसन से नपुंसकता का इलाज भी होता है।


नाईटफॉल को रोकने के लिए नौजवान लोग हफ्ते में 1 या 2 बार हस्तमैथुन कर सकते है। ( यदि फिर भी आपको नाईटफॉल की शिकायत है तो फिर अपने डॉक्टर से मिले। )


इसके अलावा

  • रोजाना वॉक करों। कम से कम 8 घंटे की नींद ज़रूर ले। 
  • ज्यादा पोर्न वीडियो या पिक्चर न देखे। 
  • खुद को शांत रखे। 
  • किसी भी तरह का स्ट्रेस या चिंता न करें। 
  • 200 से 300 ग्राम फल रोजाना खाएं।
  •  ब्रोक्कोली का सेवन भी कर सकते।
  •  अंजीर भी खा सकते है।
  •  अपनी ऊर्जा को बढ़ाने के लिए आप विटामिन डी-3 भी ले सकते है।
  •  ज्यादा तेल वाला खाना न खाएं। शराब और सिगरेट का सेवन न करे।

अपनी सेक्सुअल लाइफ को फिर से शुरू कीजिये.

अगर आपको ये सब करने के बाद भी नाईटफॉल की शिकायत है तो फिर आप डॉक्टर से मिले।



0 Comments